Skip to main content

Principles for Happy Life-Sakshi


Before you Pray-Believe
केवल मात्र प्रार्थना करने से कुछ नहीं होता।  प्रार्थना करने से पहले हमें उस ईश्वर  पर विश्वास, श्रद्धा होनी चाहिये।  सच्चे मन से की गयी प्रार्थना से ही मन को ख़ुशी मिलती है। 

Before you Speak-Listen
प्रत्येक व्यक्ति को बोलने से पहले सुनने की क्षमता रखनी चाहिए। उसे दूसरे के विचारों को ध्यान से सुनने के उपरांत सोच समझ कर अपनी बात कहनी चाहिए। 

Before you Spend-Earn
हमें धन खर्च करने से पहले उसको कमाना चाहिए। उदाहरणस्वरूप  प्रत्येक बच्चे को उम्र भर अपने माता -पिता  द्वारा अर्जित की हुई सम्पति पर निर्भर नहीं रहना चाहिए।  उसे एक निश्चित आयु के उपरांत स्वयं धन कमाने की क्षमता रखनी चाहिए। 
 
Before you Write-Read 
व्यक्ति को कुछ  भी लिखने या बोलने से पहले सोचना चाहिए।  जैसे कि वह लिख या बोल रहा है क्या वह सत्य है ?,  क्या वह लिखना जरूरी है ? क्या उससे किसी के मन को ठेस  पहुंचेगी ? अच्छा तभी लिखा जाता है जब हम अच्छा पढ़ते हैं। 
 
Before you Quit-Try 
हमें कभी भी किसी मुश्किल का सामना करने से पहले ही हार  नहीं माननी चाहिए।  उस परिस्थिति से लड़ने के लिए कम से कम कोशिश तो करनी ही चाहिए।  क्योंकि अक्सर व्यक्ति उन परिस्थितियों के गुजरने के बाद पछतावा करता है कि  हमें एक बार उन परिस्थितियों से सामना करने की कोशिश तो करनी ही चाहिए थी।  उसके बाद परिणाम चाहे कुछ भी होता पर उस व्यक्ति के मन में कम से कम  संतुष्टि तो होती है की उसने अपनी और से  पूरी कोशिश की थी। 
 
Before you Die-Live
व्यक्ति को मरने से पहले जीना  सीखना चाहिए।  उसे  डर -डर के नहीं जीना चाहिए। प्रकृति का यह नियम है की हर सजीव वस्तु कभी न कभी मृत्यु को प्राप्त होती है।  पर जब तक हम जिन्दा हैं तब तक हमें खुशहाल और ईमानदारी वाला जीवन जीना चाहिए।  अपनी एक अच्छी छाप लोगों के मन में छोडनी चाहिए जो की केवल अच्छे कर्मों के करने से ही हो सकता है। 
 
Before you Speak-Think
प्रत्येक व्यक्ति को बोलने से पहले सोचना चाहिए जैसे :
T-Is it True?
H-Is it Helpful?
I-Is it Inspiring ?
N-Is it Necessary ?
K-Is it Kind?
बोलने से पहले व्यक्ति को सोचना चाहिए कि जो वह बोल रहा है क्या वह सच है भी या नहीं ? क्या वह वचन किसी की मदद कर सकते है ? क्या वह वचन दूसरों को प्रेरणा दे सकते है?  क्या वह वचन बोलना उस परिस्थिति में बोलना जरूरी है भी या नहीं और क्या वह वचन किसी दूसरे की भावना को ठेस तो नहीं पहुँचायेगा।
खुशहाल जिन्दगी के लिए व्यक्ति को ईगो (अहम ) की भावना को दूर करना चाहिए।  जिस प्रकार जब हमारे नाख़ून बड़ जाते हैं तो हम उन नाखूनों को काटते हैं न की अपनी उँगलियों को. ठीक उसी प्रकार यदि व्यक्ति में अहम की भावना बड़ जाये तो उसे अपने अहम को दूर करना चाहिए न की रिश्तों को। 
 
“When nails grow, we cut the nails, not our fingers,
Similarly, when ego  grow, cut your ego, not the relationship.”

 “Don’t fear the enemy that attacks you,
  But the fake friend that hugs you.”
व्यक्ति में सच और झूठ पहचानने की लग्न होनी चाहिए उसे अपने और परायों की समझ होनी चाहिए क्योंकि कई बार अपने ही धोखा दे जाते हैं।  इसलिए हमें उस शत्रु से नहीं डरना चाहिए जो हम पर वार करे। बल्कि उस  झूठे दोस्त से बचना चाहिए जो हमें प्यार से गले लगाए। 
 व्यक्ति को हमेशा संतुष्ट रहना चाहिए।  उसको किसी भी वस्तु के प्रति लालसा नहीं रखनी चाहिए।  केवल किसी वस्तु को पाने के लिए ही हमें ईश्वर की प्रार्थना नहीं करनी चाहिए।  हमें ईश्वर को धन्यवाद करने के लिए भी हाथ जोड़ने चाहिए कि जो कुछ  हमें दिया है वह हमारे लिए बहुत है।  व्यक्ति कई बार भगवान को कोसते हैं की हमें ये क्यूँ नहीं दिया, उस दुसरे व्यक्ति के पास ही सब सुविधाएँ क्यों हैं जिसकी मैं भी इच्छा करता हूँ।  पर वह भूल जाता है कि उससे भी गरीब कई लोग ऐसे हैं जिन्हें दो वक्त का खाना भी मुश्किल से मिलता है।  पर फिर  भी वह  व्यक्ति संतुष्ट है क्योंकि उन्हें पास खोने के लिए कुछ नहीं है।  वह दो  वक्त की रोटी से ही खुश है।  उन व्यक्तियों से कुछ सीख लेकर लोगों को अपनी खुशहाल जिन्दगी को कोसने के बजाए , उस लालच को दूर भगा कर ईश्वर का तहे दिल से शुक्रिया अदा करना चाहिए :
 “Pray not because you need something,
  But because you have, a lot to thank GOD for.”
हर मनुष्य बिना किसी दर्द के कुछ नहीं सीख सकता। उस दर्द का सामना करके ही व्यक्ति खुशहाल जिन्दगी जीता है।  जैसे :
“You’ll never be brave, If you don’t  get hurt. 
You never learn, If you don’t make mistakes. 
You’ll never be successful, If you don’t encounter failure.”

हर मनुष्य किसी न किसी पर विश्वास करता है. मनुष्य को यह  विश्वास बनाने में काफी समय लग जाता है. पर मनुष्य की किसी एक गलती से वह विश्वास टूट जाता है और वह व्यक्ति अपनी उस जगह को कभी वापिस नहीं ले सकता। उसकी गलती के लिए भले ही उसे क्षमा करना आसान होगा पर दोबारा उस पर विश्वास करना एक अलग बात है।  इसलिए  हमें कभी भी किसी का विश्वास नहीं तोडना चाहिए क्योंकि विश्वास ही हर रिश्ते की नीवं  होता है।  पर एक छोटी सी गलती इसका पूरा अर्थ ही बदल देती है।  जैसे :
 
‘The word TRUST is the base of all relations.
But a  small mistake can change,
Its entire meaning and value,
Like missing “T” can ‘RUST’ the whole relation.”
 
SIMPLE RULES for Happy Life:

·         Free your heart from hatred
·         Free your mind from worries
·         Live Simply
·         Give More- Expect Less
·         Don’t ever give up-Never back down
·         Don’t be too emotional –Have faith
·         Don’t make things complicated-Keep it simple. 
·         Don’t take things too seriously-Laugh at problems.
 
व्यक्ति तभी खुश रह सकता है जब वह अपनी समस्याओं के बारे में सोचना बंद करेगा। 
 
“If you want to get over a problem. Stop talking about it. Your mind affects your mouth and your mouth affects your mind. Its difficult to stop talking about a situation until you stop thinking about it.”
Have Faith: 
मनुष्य को अपने दुःख-दर्द के बारे में ज्यादा नहीं सोचना चाहिए  और अगर भगवान हमसे कुछ ले ले , तो यह नहीं सोचना चाहिए कि वह हमें दंड दे रहा है।  बल्कि सोचना चाहिए कि वह हमें कुछ और भी ज्यादा अच्छा देने वाला है।  हमें उस पर अटूट श्रद्धा रखनी  चाहिए  जैसे एक बार एक गावं के लोगों ने एक जगह इक्कठे होकर भगवान से जब हम बारिश के लिए प्रार्थना करने की सोची, केवल एक बच्चा अपने साथ छाता लेकर आया।(That's Faith )
Have Trust:
एक छोटे से बच्चे की भावना जब हम उसे हवा में उछालते है तो वह हँसता है क्योंकि  वह जानता  है कि हम उसे जरुर पकड़ लेंगें।  (That's Trust )
Have Hope:
हर रात जब हम सोने जाते है हमें पता नहीं कि हम सुबह जिन्दा उठेंगें भी या नहीं पर फिर भी हम अलार्म लगा कर सोते हैं।  (That's Hope)
 
Be Happy:
 
“Don’t feel bad if people remember you,
Only when they need you.
Feel privileged that you are like a candle,
That comes to their mind when there is Darkness.”
 
मनुष्य को हमेशा सत्य बोलना चाहिए क्योंकि 
“The truth  may hurt for a little while,
But a lie hurts forever.”

“Speak only when you feel that
Your words are better than your silence.”
 
“Enjoy every moment you have.
Because in life,
There are no rewinds, only flashbacks.
Make sure it’s all worth it.”

“Pain makes you stronger.
Tears makes you braver.
Heart break makes you wiser.
So thank the past for a better future.”

 “Treat your parents
 With loving care for …. 
You will only know their value.
When you see their empty chair…”

“As you breathe right now,
Another person takes his last.
So stop complaining and
Learn to live with what you have.”

“Don’t take rest after your  first victory.
Because if you fall in second,
More lips are waiting to say,
That  your first victory was just luck.”

“Being a good person does  not depend
On your  religion or status in life,
Your race or skin color,
Political views or culture. 
It depends on how good you treat others.”
 
“ 3 main rules in any relationship:
         i.            Don’t lie
       ii.            Don’t cheat
      iii.            Don’t make promises you can’t keep!
 
BE HAPPY 

“Be who you want to be
If others don’t like it,
Let them be.”
As the saying goes,
“Happiness is a choice”
Life is NOT about pleasing everybody...”
 
“Happiness is your key and
Life is your door…
Never lose grip of your key.”

“God knows who belongs
In your life and who
Doesn’t trust and let go.
Whoever is ment to be
There, will still be there.”

(Session 2012-2013 )

 


Popular posts from this blog

भगत सिंह की पसंदीदा शायरी

दिल दे तो इस मिज़ाज़ का परवरदिगार दे
जो ग़म की घड़ी को भी खुशी से गुजार दे

सजाकर मैयते उम्मीद नाकामी के फूलों से
किसी बेदर्द ने रख दी मेरे टूटे हुए दिल में

छेड़ ना ऐ फरिश्ते तू जिक्रे गमें जानांना
क्यूँ याद दिलाते हो भूला हुआ अफ़साना
यह न थी हमारी किस्मत जो विसाले यार होताअगर और जीते रहते यही इन्तेज़ार होता तेरे वादे पर जिऐं हम तो यह जान छूट जानाकि खुशी से मर न जाते अगर ऐतबार होतातेरी नाज़ुकी से जाना कि बंधा था अहदे फ़र्दाकभी तू न तोड़ सकता अगर इस्तेवार होटायह कहाँ की दोस्ती है (कि) बने हैं दोस्त नासेहकोई चारासाज़ होता कोई ग़म गुसार होताकहूं किससे मैं के क्या है शबे ग़म बुरी बला हैमुझे क्या बुरा था मरना, अगर एक बार होता(ग़ालिब)इशरते कत्ल गहे अहले तमन्ना मत पूछइदे-नज्जारा है शमशीर की उरियाँ होनाकी तेरे क़त्ल के बाद उसने ज़फा होनाकि उस ज़ुद पशेमाँ का पशेमां होनाfor more details go to:http://bhagatsinghstudy.blogspot.com/

चुनिंदा शायरी -कंचन

तू रख होंसला वो मंजर भी आएगा।
प्यासे के पास चलकर समंदर भी आएगा।
थक हार कर न रुकना ऐ मंजिल के मुसाफ़िर,
मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आएगा।


जिंदगी की असली उडान अभी बाकी है।
जिंदगी के कई इम्तिहान अभी बाकी है।
अभी तो नापी है मुट्ठी भर  ज़मीन हमने ,
अभी तो सारा आसमान बाकी है।

आंधियों  में भी जैसे कुछ  चिराग़  जला करते हैं।
उतनी ही हिम्मत ऐ होंसला हम भी रखा करते हैं।
मंजिलों , अभी और दूर है हमारी मंजिल ,
चाँद सितारें  तो राहों में मिला करते हैं।

संग्रहकर्ता :
कंचन
बी ए 3.

अज आखां वारिस शाह नू - अमृता प्रीतम

अज आखां वारिस शाह नू कितों कबरां विचो बोल !
ते अज किताब -ऐ -इश्क दा कोई अगला वर्का फोल !

इक रोई सी धी पंजाब दी तू लिख -लिख मारे वेन
अज लखा धीयाँ रोंदिया तैनू वारिस शाह नू कहन

उठ दर्मंदिया दिया दर्दीआ उठ तक अपना पंजाब !
अज बेले लास्सन विछियां ते लहू दी भरी चेनाब !

किसे ने पंजा पानीय विच दीत्ती ज़हिर रला !
ते उन्ह्ना पनिया ने धरत उन दित्ता पानी ला !


जित्थे वजदी फूक प्यार दी वे ओह वन्झ्ली गई गाछ
रांझे दे सब वीर अज भूल गए उसदी जाच

धरती ते लहू वसिया , क़ब्रण पयियाँ चोण
प्रीत दियां शाहज़ादीआन् अज विच म्जारान्न रोण

अज सब ‘कैदों ’ बन गए , हुस्न इश्क दे चोर
अज किथों ल्यायिये लब्भ के वारिस शाह इक होर

aaj आखां वारिस शाह नून कित्तों कबरां विचो बोल !
ते अज किताब -ऐ -इश्क दा कोई अगला वर्का फोल !

Cited From:http://www.folkpunjab.com/amrita-pritam/aj-akhan-waris-shah-noon/
Date:11-4-2008